Click here to view more

    

  

BRIJBHOOMI NEWS HEADLINES

  

 



Our Stories

singh

आज का दिन चम्पा अग्रवाल इंटर कोलेज,मथुरा के लिए बहुत उत्साहवर्धक रहा। आज पहली बार अलम्नाई,प्रबंध मंडल और शिक्षक वृंद की बैठक हुई जिसमें विद्यालय के गौरवशाली वैभव को दिर से पैदा करने के त्रिवर्षीय कार्यक्रम पर खुल कर विचार किया गया।कई रचनात्मक सुझाव आए।३ फ़रवरी को होने वाले मथुरा अलम्नाई सम्मेलन की तैयारियों की समीक्षा भी की गयी ।बैठक में अग्रवाल शिक्षक मंडल के मंत्री श्री ग़ौर शरण सर्राफ़,चम्पा अग्रवाल प्रबंध मंडल के अध्यक्ष श्री वासुदेव अग्रवाल,मंत्री श्री उमेशचंद बिसावरवाले ,श्री मित्तल जी और प्रिन्सिपल श्री अतुल कुमार जैन की भागीदारी उल्लेखनीय रही। कुल मिलाकर चम्पा अग्रवाल इंटर कॉलेज अब करवट ले रहा है।
आज जब में स्कूल प्रांगण में पहुँचा तो आश्चर्य हुआ। बहुत सारे श्रमिक स्कूल की इमारत की मरम्मत, रंगाई पेंटिंग में लगे हुए थे।यज्ञशाला को बड़ा किया जा रहा है।जगह जगह पड़े हुए कबाड़ को हटाया जा रहा है।
शिक्षकों से हुई मीटिंग में कई रचनात्मक सुझाव आए।एक महत्वपूर्ण सुझाव स्कूल के द्वार लड़कियों के लिए खोलने का था क्योंकि कई बालिका विद्यालयों में science और कामर्स के विकल्प उपलब्ध नहीं है। एक सुझाव यह भी आया की अच्छे विध्यार्थियों को आकर्षित करने के लिए ९ वी और ११वी के बच्चो को कोर्स की किताबें मुफ़्त दी जाएँ।सचमुच अब लगता है की हमारा स्कूल करवट बदल रहा है।

Latest News

  • मुंबई देश की फ़ाइनैन्स कैपिटल है। यहाँ कोई एसा क्षेत्र नहीं जहाँ चम्पा अग्रवाल कॉलेज के अलम्नाई शिखरों पर ना बैठे हों। काल मुंबई में हुए अलम्नाई सम्मेलन में एसी कुछ विशिष्ट हस्तीयों को ब्रज गौरव श्री सम्मान से विभूषित किया गया। इस ग्रूप फ़ोटो में डाक्टर कृष्ण गोपाल शर्मा ,श्री सुरेश बी चतुर्वेदी,श्री सुरेश अग्रवाल और श्री रविकान्त गर्ग के साथ सम्मानित अलम्नाई पीछे खड़े है:- श्री देवेंद्र कुमार शर्मा, श्री अनुज गर्ग,श्री मदन मनोहर चतुर्वेदी,श्री प्रशांत गुलनजी चतुर्वेदी,श्री नंद किशोर ब्रजानंद चतुर्वेदी और श्री अनिल पूरनचंद अग्रवाल।चम्पा अग्रवाल इंटर कॉलेज अलम्नाई के मुंबई सम्मेलन में अपूर्व जोश दिखाईं दिया। भाई अरविंदम के द्वारा भेजे गए फ़ोटो यह दर्शा रहे हैं की मुंबई के व्यावसायिक और पेशेवर जगत में इस विद्यालय के अलम्नाई छाए हुए हैं और अपने संस्थान की हालत को सवारने के लिए उद्यत है।इस सम्मेलन को सफलतापूर्वक आयोजित करने का समूचा श्रेय भाई सुरेश वी चतुर्वेदी को जाता है,जो की इस सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहे थे।भाई सुरेश अग्रवाल,हीरा मिस्थान वालों ने आतिथ्य की सुंदर व्यवस्था की।श्री अरविंदम चतुर्वेदी का संयोजन और समन्वय सराहनीय रहा।में विशेष रूप से डाक्टर कृष्णगोपाल जी,श्री अनुज गर्ग और श्री रविकान्त गर्ग के प्रति आभार व्यक्त करना चाहूँगा कि वे पूरा दिन लगाकर दिल्ली और मथुरा से इस सम्ममेलन के लिए मुंबई पहुँचे।
  • मैं ने इसका स्वर्ण काल देखा है। वर्ष १९६६ से लेकर १९७२ तक १२ साल तक अपने छात्र जीवन में जो गुरुजनों से सीखा वह पिछले ४५ वर्षों से काम आ रहा है। इस स्कूल से पढ़ कर पिछले ७० वर्षों में ना जाने कितने हज़ारों डाक्टरों ,चार्टर्ड accountants, वेज्ञानिकों ,शिक्षविदों ,प्रशासनिक अधिकारियों ,व्यवसायियो और इंजीनियरों ने देश और दुनिया की सेवा की होगी।अनुमान लगाना मुश्किल होगा।
  • ६० और ७० के दशकों में ये स्कूल मथुरा के लिए Harrow,Eaton या भारत के Doon School की तरह था। हमारे ज़माने के प्रिन्सिपल श्री कन्हैया लाल गुप्ता प्रदेश के जाने माने शिक्षा शास्त्री थे। वे हर टीचर और विद्यार्थी से व्यक्तिगत रूप से जुड़े रहते थे। यही बात उन्होंने शिक्षकों में पैदा की थी । उस काल खंड के शिक्षकों में विद्यार्थियों की भलाई करने और उन्हें सदाचार पर चलने की शिक्षा देने का बड़ा जोश होता था। उस ज़माने के गुरु जानो में सर्व श्री माखन लाल अग्रवाल, पी सी अग्रवाल, धर्मेन्द्र विद्यार्थी, एम सी बंसल, श्री प्रपन्नाचार्या, नंद लाल शर्मा, गनेशी लाल जी,जीवन लाल चतुर्वेदी, गोस्वामी जी, एन सी जैन, ओ पी बंसल, के के खंडेलवाल, अच्युत लाल भट्ट, नत्थी लाल सारस्वत,जी पी शर्मा, कुश नाथ जी, ए पी नौटियाल , आर एस वर्मा, राम नारायण उपाध्याय आदि लोकप्रिय थे। दोपहर में हमें कुछ चना बिस्कुट या फ़्रूट्स मिलते थे जिसके प्रभारी श्री के सी जैन थे। ।
  • यह स्कूल जो १९८० तक शीर्ष स्थान पर बना रहा आज ख़स्ता हाल है। इसकी अलम्नाई जो देश, देशांतर में है इसकी मोजूदा हालत से चिंतित है। इनमे से अनेक देश की बड़ी बढ़ी कम्पनियों, संस्थाओं ,सरकारी विभागों ,अख़बारों और सेना या पुलिस में उच्च पदों पर आसीन हैं। उनका यह दायित्व बनता है की अपने स्कूल के लिए कुछ करें ।
  • इस सम्बंध में एक पहलकदमी की जा रही है। आगामी २९ जुलाई २०१७ को सायं ६ बजे चम्पा अग्रवाल इंटर कॉलेज परिसर में एक बैठक होगी जिस में पूर्व विद्यार्थियों के साथ साथ प्रबंध मंडल के सभापति, प्रबंधक व वर्तमान प्रिन्सिपल भी सम्मिलित होंगे।